Contributing to Indian Economy

GST Logo
  • GST Suvidha Kendra®

  • H-183, Sector 63, Noida

  • 09:00 - 21:00

  • प्रतिदिन

किसान विकास पत्र योजना 2021

Contact Us
किसान विकास पत्र योजना 2021

किसान विकास पत्र योजना 2021

gst suvidha kendra ads banner

सरकार किसी भी योजना को इसलिए लागू करती है की प्रत्येक व्यक्ति को इस योजना से बचत / लाभ प्राप्त हो| प्रत्येक नागरिक को बचत की आदत हो जाए इसलिए सरकार सभी प्रकार की योजनाओं को उनके अनुकूल प्रारंभ करती है| उन सभी योजनाओं में से किसान विकास पत्र योजना भी शामिल है| इस योजना का लाभ उठाने के लिए, व्यक्ति को लंबे समय से किसान विकास पत्र योजना में निवेश करना होता है| इस योजना में किसी प्रकार का कोई जोखिम (risk) वाली बात नहीं है| किसान विकास पत्र योजना को आरंभ करने का विशेष्य यही है कि किसी भी भारतीय व्यक्ति को निवेश करने में जोखिम लगता है वह इस योजना में निवेश कर सकता है| आज हम इस लेख में किसान विकास पत्र योजना के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे| किसान विकास पत्र योजना से जुड़े हम इस विषय पर चर्चा करेंगे|

  • किसान विकास पत्र योजना क्या है?
  • किसान विकास पत्र योजना 2021
  • किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट
  • किसान विकास पत्र इंटरेस्ट रेट
  • किसान विकास पत्र योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

किसान विकास पत्र योजना क्या है और किसान विकास पत्र योजना 2021 की पूरी जानकारी?

जैसा कि हमने इस लेख में किसान विकास योजना पर चर्चा करी है कि यह एक प्रकार की निवेश करके बचत प्राप्त करने की योजना है| इस योजना में व्यक्ति को लंबे समय से निवेश करना पड़ता है| उसके बाद व्यक्ति को लगभग दुगनी रकम सरकार द्वारा या फिर किसान विकास पत्र योजना द्वारा प्राप्त होती है| इस योजना में आवेदन करने के लिए किसी भी व्यक्ति को डाकघर या फिर कोई भी बैंक में जाकर आवेदन पत्र प्राप्त कर सकते हैं| किसान विकास पत्र योजना का निवेश समय 10 साल और 4 महीने हैं अर्थात 124 महीने| इस निवेश समय के बाद विनिधान कर्त्ता को लगभग दोगुने पैसे मिलते हैं| इस योजना के अंतर्गत भारत का कोई भी व्यक्ति इसमें निवेश कर सकता है| परंतु उसके लिए व्यक्ति को सबसे पहले केवीपी (KVP) भी प्रमाण पत्र दिखाना होगा| केवीपी अर्थात किसान विकास पत्र होता है| इस योजना में निवेश करने का कम से कम ₹1000 है और उसकी कोई ऊपरी सीमा नहीं है| परंतु कोई व्यक्ति ₹50000 से ज्यादा निवेश करता है तो उस व्यक्ति को अपनी पैन कार्ड डिटेल्स देनी होती हैं|

किसान विकास पत्र योजना पर ब्याज रिटर्न तथा निकासी क्या मिलती है?

किसान विकास पत्र योजना 2021 में 6.9 प्रतिशत ब्याज दरें प्रत्येक व्यक्ति को मिलती है| यदि विनिधान कर्त्ता अपना निवेश समय 124 महीने पूरे करता है तो उसके बाद उसे 6.9% के अंतर्गत दुगनी निवेश राशि किसान विकास पत्र योजना के द्वारा प्रदान की जाती है|

यदि विनिधान कर्त्ता अपना प्रमाण पत्र खरीदने के 1 वर्ष से पहले ही प्रमाण पत्र वापस लेता है तो उसे सुनने ब्याज दर प्रदान किया| साथ ही विनिधान कर्त्ता कुछ जुर्माना भी चुकाना होगा|

यदि किसी विनिधान कर्त्ता प्रमाण पत्र खरीदने के 1 वर्ष के पश्चात जमा की गई रकम वापस लेता है तो ब्याज दर कम हो जाती है और जुर्माना भी नहीं देना होता|

यदि कोई विनिधान कर्त्ता ढाई साल पूर्ण होने के बाद जमा की गई राशि का निवेश करता है तो उसे 6.9% का ब्याज दर प्राप्त होगा और कोई जुर्माना नहीं भरना होगा|

किसान विकास योजना योजना की मुख्य झलकियाँ 2021

योजना का नामकिसान विकास पत्र योजना
किस ने लांच कीभारत सरकार
लाभार्थीभारत के नागरिक
उद्देश्यदेशवासियों के प्रति बचत की भावना को प्रोत्साहित करना।
निवेश की अवधि124 महीने
न्यूनतम निवेश₹1000
अधिकतम निवेशकोई सीमा नहीं
ब्याज दर6.9%

किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट क्या होता है और कहां से प्राप्त होता है?

किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट सरकार द्वारा बनाए गए डाकघर (Postoffice) से प्राप्त करवाया जाता है| इस सर्टिफिकेट को कोई भी व्यक्ति खरीद सकता है| किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट को खरीदने का माध्यम कैश, चेक, पर आर्डर डिमांड ड्राफ्ट है| किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट तीन प्रकार के होते हैं|

  • सिंगल होल्डर टाइप किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट
  • जॉइंट ए टाइप किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट
  • जॉइंट भी टाइप किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट

सिंगल होल्डर टाइप किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट- यह सर्टिफिकेट कोई भी नाबालिग या ना बालिका की तरफ से किसी एक परिपक्व व्यक्ति को सरकार द्वारा दिया जाता है|
जॉइंट ए टाइप किसान पत्र सर्टिफिकेट- यह सर्टिफिकेट दो बालिग व्यक्तियों को सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है| यह सर्टिफिकेट दोनों धारकों के लिए बराबर रूप से दाए है|
जॉइंट बी टाइप किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट- यह सर्टिफिकेट सरकार द्वारा दो मालिक व्यक्तियों को संयुक्त रूप से प्रदान किया जाता है परंतु दोनों खाताधारकों में से किसी एक व्यक्ति को मान्य होता है|

किसान विकास पत्र का इंटरेस्ट रेट क्या है?

किसान विकास पत्र योजना का समय अंतराल 10 साल 4 महीने ( 124 महीने) है| इस अंतराल के दौरान विनिधान कर्त्ता का प्रिंसिपल अमाउंट दुगना हो जाता है| सरकार द्वारा इस योजना में 1 जनवरी 2021 से इंटरेस्ट रेट में कुछ बदलाव करें गए हैं| किसान विकास पत्र योजना द्वारा 6.9% इंटरेस्ट रेट दिया जाता है| विनिधान कर्त्ता अपने मेजॉरिटी पीरियड से पहले जमा कर गए पैसे निकाल लेते हैं तब उनके लिए कुछ नए प्रावधान हैं| इस योजना में निवेश करने की सीमा कम से कम ₹1000 है और अधिकतम निवेश करने की कोई भी सीमा नहीं है| राज्य सरकार और केंद्र सरकार द्वारा किसान विकास पत्र योजना का सर्टिफिकेट 1000 5000 एक लाख तथा पांच लाख के विभाजन में बेचा जाता है| इस राशि सर्टिफिकेट को हर व्यक्ति किसी भी पोस्ट ऑफिस से प्राप्त कर सकता है| कोई भी राशि की सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए व्यक्ति को अपना पहचान पत्र पोस्ट ऑफिस में दिखाना अनिवार्य है| अगर किसी व्यक्ति के पास पहचान पत्र स्लिप नहीं है तो व्यक्ति उसी डाकघर में किसान विकास पत्र योजना का राशि सर्टिफिकेट रिडीम कर सकता है|

किसान विकास पत्र योजना 2021 का क्या उद्देश्य है?

जैसा कि हमने इस लेख के शुरुआत में बताया है कि सरकार कोई भी योजना अपने देश के नागरिकों के हित के लिए प्रारंभ करती हैं| वैसे ही इस योजना का मुख्य उद्देश्य नागरिकों को बचत करने के प्रति प्रेरित करना है| प्रत्येक नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकते हैं और मात्र 124 महीनों के अंदर जमा की गई रकम से दुगनी रकम आ सकते हैं| ऐसा करने से प्रत्येक नागरिक की आर्थिक स्थिति और भी बेहतर हो जाती है|

क्या किसान विकास पत्र ट्रांसफर किया जा सकता है?

किसान विकास पत्र एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के नाम पर ट्रांसफर किया जा सकता है परंतु नीचे दी गई स्थितियों में से कोई एक स्थिति होने पर|

  • खाता धारक की मृत्यु हो जाने पर
  • संयुक्त धारक की मृत्यु हो जाने पर
  • कोई भी न्यायालय द्वारा आदेश देने पर
  • किसी भी निर्देशित अधिकारी को खाते की लीज पर

किसान विकास पत्र को वापस लेने के लिए क्या नियम है?

जैसा कि इस लेख में हमने ऊपर व्यतीत किया है कि किसान विकास पत्र किसी समय भी बंद किया जा सकता है| इस निर्णय को कुछ महत्वपूर्ण तिथियों में लिया जा सकता है और वह सारी स्थिति नीचे बताई गई है|

  • किसी एक खाताधारक या फिर सभी खाताधारकों की मृत्यु हो जाने की स्थिति में
  • किसी भी न्यायालय के आदेश पर
  • निवेश जमा करने के 2 साल 6 महीने के बाद
  • राजपत्रित अधिकारी के आदेश द्वारा

किसान विकास पत्र अकाउंटेंट कौन कौन हो सकता है?

किसान विकास पत्र के अनुसार नीचे दिए गए कारणों में से कोई भी अकाउंटेंट बन सकता है|

  • एक बालक व्यक्ति
  • संयुक्त खाता धारक (3 व्यक्तियों तक)
  • नाबालिग की ओर से अभिभावक

किसान विकास पत्र योजना 2021 के लाभ तथा विशेषताएं क्या है?

  • यह एक प्रकार की बचत योजना है| इस योजना के अंतर्गत कोई भी निवेशक अपनी आय को 124 महीने निवेश करके दुगना प्राप्त कर सकता है|
  • आय को दोगुना करने के लिए निवेशक को प्रत्येक महीने कम से कम 1 हजार रुपए का निवेश करना अनिवार्य है|
  • निवेशक अगर ₹50000 से ज्यादा निवेश करता है तो निवेशक को अपने पैन कार्ड की डिटेल्स पोस्ट ऑफिस पर जमा करनी है|
  • इस योजना का आवेदन प्रत्येक व्यक्ति किसी भी डाकघर या कोई भी बैंक से कर सकता है|
  • किसान विकास पत्र योजना को एक डाकघर से दूसरे डाकघर में ट्रांसफर कर सकते हैं और ऐसे ही एक बैंक से दूसरे बैंक में भी ट्रांसफर किया जा सकता है|
  • केवीपी फॉर्म चेक या कैश से खरीदा जा सकता है|
  • किसान विकास पत्र योजना का सर्टिफिकेट निवेशक को प्राप्त होगा| इस सर्टिफिकेट के अंदर इन सब चीजों को ज्ञात होगा|
    • निवेश राशि
    • मैच्योरिटी राशि
    • निवेशक का नाम
  • किसान विकास पत्र योजना को गारंटी के तौर पर लोन लेने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है|

किसान विकास पत्र योजना की पात्रता क्या है?

  • इस योजना को पाने के लिए निवेशक को भारत की नागरिकता हासिल होनी चाहिए|
  • निवेशक की उम्र 18 वर्ष से ऊपर होनी चाहिए|
  • यदि निवेशक की उम्र 18 वर्ष से कम है तब निवेशक के माता-पिता इस योजना में निवेश कर सकते हैं|

किसान विकास पत्र योजना के अंतर्गत कौन कौन से दस्तावेज की आवश्यकता होती है?

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • केवीपी एप्लीकेशन फॉर्म
  • आयु प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

किसान विकास पत्र योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की क्या प्रतिक्रिया है?

  • सबसे पहले निशक को उस डालकर या फिर बैंक की अधिकारी वेबसाइट पर जाना होगा जहां से निवेशक इस योजना का लाभ लेना चाहता है|
  • अब निवेशक के सामने उस बैंक या डाकघर की वेबसाइट का पेज खुला होगा|
  • निवेशक को इन्वेस्टमेंट प्लान क्लिक करना होगा|
  • इसके बाद निवेशक के सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा|
  • निवेशक को सभी जानकारियां उस आवेदन फॉर्म में दर्ज करनी आवश्यक है|
  • सभी महत्वपूर्ण जानकारी के साथ निवेशक को सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज अटैच करने आवश्यक है|
  • सारी प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात निवेशक सुमित के बटन पर क्लिक करना होगा|

किसान विकास पत्र योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है?

  • सबसे पहले निदेशक को अपने नजदीकी किसी भी बैंक या डाकघर में जाना होगा|
  • उसके पश्चात वहां से निवेशक को किसान विकास पत्र योजना का आवेदन फॉर्म लेना होगा|
  • निवेश को सभी महत्वपूर्ण जानकारी जो उस आवेदन फॉर्म में पूछी गई हैं वह भरनी होंगी|
  • महत्वपूर्ण जानकारी भरने के बाद निवेशक को सभी दस्तावेज अटैच करने होंगे|
  • इतना करने के बाद निवेशक को यह फॉर्म उसी बैंक या पोस्ट ऑफिस में जमा करना है|
  • इतना करने के पश्चात निवेश सफलतापूर्वक किसान विकास पत्र योजना का आवेदन फॉर्म भर सकता है|

 

 

gst suvidha kendra ads banner

Share this post?

custom

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

one × 5 =

Shares