Contributing to Indian Economy

GST Logo
  • GST Suvidha Kendra®

  • H-183, Sector 63, Noida

  • 09:00 - 21:00

  • प्रतिदिन

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट 2021

Contact Us
प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट 2021

gst suvidha kendra ads banner

दोस्तों आज हम इसलिए प्रधानमंत्री ग्रामीण योजना लिस्ट के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारियां बताएंगे।प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट के तहत हर एक व्यक्ति अपना नाम घर बैठे इस सूची में देख सकता है। न्याय योजना भारतीय सरकार द्वारा इसलिए प्रारंभ की गई है की हर एक व्यक्ति को अपना खुद का मकान या कर प्राप्त हो। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट से पहले हर एक व्यक्ति इस लिस्ट को देखने के लिए सरकारी दफ्तर के चक्कर लगाता था परंतु यह ऑनलाइन होने के बाद हर एक व्यक्ति अपने घर पर इस लिस्ट को ऑनलाइन देख सकता है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट 2021

इस योजना के तहत सभी लाभार्थियों के नाम एक लिस्ट में जारी करे जाते हैं। जो लाभार्थी इस योजना में चुने जाते हैं उन सभी लाभार्थियों के नाम इस लिस्ट के अंदर होते हैं। जैसा कि हम सब ने बताया है कि जिन लोगों का इस सूची में नाम होगा वही लोग इसका लाभ उठा सकते हैं और उस धनराशि प्राप्त कर सकते हैं और यह धनराशि घर बनाने के लिए सरकार अपने खाते से प्रदान करती हैं। इस लिस्ट के अंदर लाभार्थी का बैंक खाता और मूल खाते का पूरा देवरा मिलेगा। इस लिस्ट की खोज लाभार्थी दो तरीके से कर सकते हैं।

    • PMAY-G लाभार्थी सूची पंजीकरण संख्या द्वारा
    • PMAY-G लाभार्थी सूचीअग्रिम खोजे द्वारा

ग्रामीण आवास योजना से उत्तर प्रदेश राज्य में कितने लोगों को लाभ पहुंचा।

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुधवार को 20 जनवरी 2021 में उत्तर प्रदेश राज्य के लिए 2691 करोड़ रुपए की सहायता करने का ऐलान किया था। यह घोषणा प्रधानमंत्री द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करी गई थी। सिंगल क्लिक के जरिए सभी लाभार्थियों के बैंक खाते में बराबर राशि पहुंचाई गई। नई योजना के जरिए उत्तर प्रदेश के लगभग 6.1 लाख लाभार्थियों को लाभ पहुंचा।

  • 6.1 लाख लाभार्थियों में से 5.30 लाभार्थियों को पहले किस्त की राशि प्रदान की गई। और 80000 लाभार्थियों को दूसरे किस की राशि प्रदान करेंगे। जब यह धनराशि लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में भेजी जा रही थी तब उस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बहुत से बड़े नेता वहां पर उपस्थित थे।
  • अब तक प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत पूरे देश में 1.26 करोड़ पक्के मकान बन चुके हैं। इन सभी आंकड़ों के हिसाब से मकानों का निर्माण 20 वर्ग मीटर में हुआ था परंतु अब यह बढ़ाकर 25 वर्ग मीटर कर दिया गया है। इसमें रसोई भी शामिल है।
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत मैदानी इलाकों के लिए सरकार 1.20 लाख रुपये प्रदान करेगी। और पहाड़ी इलाकों के लिए 1.30 लाख रुपए प्रदान करें जाएंगे। जैसा की आप सभी को पता है कि इस योजना की शुरुआत 2015 में हुई थी।
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत लोगों को नए घर बनाने के लिए या फिर पुराने घर की मरम्मत करने के लिए सरकार द्वारा कुछ धनराशि की मदद करी जाती है।

पीएम ग्रामीण आवास योजना लाभार्थी का चयन कैसे किया जाता है?

  • इस योजना के चयन के लिए सरकार SECC 2011 के आंकड़े में आवास अभाव को दर्शाने वाले पैरामीटर के आधार पर किया जाता है।
  • उसके बाद उसका फिजिकल सामान्यीकरण ग्राम सभा द्वारा किया जाता है ।
  • इसके बाद उस लाभार्थी का नाम लिस्ट में होगा जिसके पास रहने के लिए मकान नहीं है और मकान की कच्ची दीवारें हैं और उस लाभार्थी का चयन बीपीएल सूची के साथ किया जाएगा।
  • किसी भी लाभार्थी को सबसे पहले अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, और बेघर परिवारों को प्राथमिकता दी जाएगी।

संक्षिप्त सारांश पीएम ग्रामीण आवास योजना 2021

योजना का नामप्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना
संबंधित विभागग्रामीण विकास मंत्रालय
योजना आरंभ की तिथिवर्ष 2015
ऑनलाइन आवेदन की तिथिAvailable Now
योजना का प्रकारCentral Govt. Scheme
आवेदन का प्रकारऑनलाइन
लाभार्थीSECC-2011 Beneficiary
उद्देश्यHouse For all
आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmayg.nic.in/

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट का क्या उद्देश्य है?

 प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट का उद्देश्य यह है कि हर व्यक्ति घर पर बैठकर सूची के अंदर अपना नाम  देखें।  प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की शुरुआत  इसलिए करी गई थी की हर व्यक्ति को अपना खुद का घर प्राप्त हो।  इस  योजना की सारी प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम से करी जा सकती हैं। इसलिए हर कोई व्यक्ति प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की लिस्ट चेक करके अपना नाम लिस्ट में देख सकता है। यह करने से किसी भी व्यक्ति को सरकारी दफ्तर के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं होती और उस व्यक्ति का समय भी बचता है। यदि व्यक्ति को अपना नाम प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट में देखना है तब व्यक्ति को इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना क्या है?

जैसे कि आप सबको पता है सरकार कोई भी योजना इसलिए  प्रारंभ करती है जिससे भारतीय  नागरिकों को  थोड़ी मदद कर सके। इस योजना की शुरुआत भी इस उद्देश्य से करी गई है कि कमजोर वर्ग के लोगों को अपना खुद का घर या मकान प्राप्त हो सके। इस योजना के तहत केंद्र सरकार भारतीय नागरिकों को पक्का घर या मकान बनाने में मदद  करती है।  प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत केंद्र सरकार कमजोर परिवारों को ₹120000 की मदद करती हैं और पहाड़ी क्षेत्रों वाले इलाकों में रहने वाले कमजोर परिवारों की ₹130000 देकर मदद करती है।

 प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत केंद्र सरकार 2022 वर्ष तक लगभग एक करोड़ पक्के घर उपलब्ध करवाने का  लक्ष्य रखा हुआ है। इस योजना के तहत 2011 की जनगणना के आधार पर लाभार्थियों का चयन  किया जाएगा।  प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत कमजोर परिवारों को घर बनाने के लिए जो केंद्र सरकार धनराशि प्रदान करें कि वह सीधे उनके बैंक अकाउंट में पहुंच जाएगी। इस धनराशि से सभी कमजोर परिवार अपना अपना पक्का घर बनाकर अपने सपने साकार कर सकते हैं ।

ग्रामीण आवास योजना के तहत केंद्र सरकार की कितनी लागत आती है?

इस योजना के तहत सन 2022 तक केंद्र सरकार ने एक करोड़ पक्के मकान कमजोर परिवारों को बना कर देने का लक्ष्य किया है। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार के फंड से लगभग 1, 30, 075 करोड़ रुपए की लागत देनी होगी। यह लागत केंद्र सरकार ने 60:40 के आधार पर बंटवारा घर आ गया है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार की कुल लागत का अंश 18,975 करोड़ रुपए होगा। यह अनुमान सपाट जमीन के हिसाब से लगाया गया है। पहाड़ी इलाकों के लिए केंद्र सरकार ने 90:10 के अनु पर किया गया है। केंद्र सरकार के नजरिए से पहाड़ी इलाकों में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड वाले राज्य आते हैं।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कितनी अवधि के लिए लोन मिलता है?
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अधिक से अधिक कोई भी व्यक्ति 30 वर्षों की अवधि के लिए ऋण किसी भी बैंक से प्राप्त कर सकता है। किसी भी व्यक्ति की अवधि 30 वर्ष पूरी होने से पहले 65 वर्ष हो जाती है तब उस व्यक्ति को अपनी 65 वर्ष की आयु से पहले लिए गए लोन का भुगतान करना होगा। अगर कोई व्यक्ति इस अवधि से पहले भी लोन का भुगतान करना चाहता है तो वह कर सकता है।

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए कौन-कौन लाभार्थी है?
पीएम आवास योजना मुख्य रूप से एक तरह की हाउसिंग स्कीम योजना है। इस योजना का वह व्यक्ति लाभ उठा सकता है जो नीचे दिए हुए किसी एक वर्ग में आता है।

  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग
  • महिलाएं (किसी भी जाति या धर्म की)
  • मध्यम आय वर्ग 1
  • मध्यम आय वर्ग 2
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति
  • कम आय वाले लोग

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के क्या मुख्य तथ्य हैं?

  • प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत कोई भी व्यक्ति ₹70000 तक का ऋण किसी भी बैंक से प्राप्त कर सकता है।
  • इस लोन के तहत लाभार्थी को केंद्र सरकार की तरफ से सब्सिडी भी प्रदान करी जाती है।
  • इस योजना को और भी बहुत सारी योजनाओं के साथ जोड़ा गया है जैसे कि स्वच्छ भारत अभियान, उज्ज्वला योजना इत्यादि।
  • इस योजना के तहत किसी भी व्यक्ति के घर का निर्माण किया जाता है तब वह निर्माण भूमि और जलवायु को ध्यान में रखकर किया जाएगा। और सभी प्रकार की सामग्री जो मकान निर्माण के समय प्रयोग में ली जाएगी वह स्थानीय व्यक्ति से ही ली जाएंगे।
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत कम से कम क्षेत्रफल 25 स्क्वायर फीट है। क्षेत्रफल के अंतर्गत रसोई और सभी बुनियादी सेवाओं को शामिल करना आवश्यक है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत लाभार्थी को क्या लाभ होता है?

इस योजना के तहत केंद्र सरकार ने करने काफी छूट प्रदान करी है और भी बहुत सारे लाभ इस योजना में शामिल हैं जो कि कुछ इस प्रकार हैं।

  • Section 80C- होम लोन की प्रिंसिपल अमाउंट की भुगतान किए जाने पर डेढ़ लाख तक प्रतिवर्ष इनकम टैक्स की छूट है।
  • The Section 24(b) – होम लोन का ब्याज चुकाने पर प्रतिवर्ष ₹200000 इनकम टैक्स की छूट है।
  • Section 80EE- जो व्यक्ति घर पहली बार खरीद रहा है उसे हर वर्ष ₹50000 तक इनकम टैक्स छूट प्रदान करता है।
  • Section 80EEA- अगर किसी व्यक्ति की संपत्ति आवाज श्रेणी के अंतर्गत होती है तब उस व्यक्ति को प्रतिवर्ष डेढ़ लाख रुपए तक इनकम टैक्स में छूट मिलती है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना 2021 के कंपोनेंट्स क्या है?

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के चार मुख्य कंपोनेंट्स हैं। और वह सारे मुख्य कंपनी नीचे विस्तार से लिखे गए हैं।

  • क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (Credit linked subsidy scheme)- इस स्कीम के तहत होम लोन की ब्याज दरों के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा सब्सिडी प्रदान करी जाती है। इस सब्सिडी को प्राप्त करने के लिए अलग अलग तरीके के वर्ग में विभाजित कर आ गया है।
  • सीटू स्लम रीडिवेलपमेंट (In situ slum redevelopment)- योजना के अंतर्गत जितने भी स्लम क्षेत्रों में रहने वाले परिवार हैं उन्हें केंद्र सरकार मकान उपलब्ध कराती है।
  • अफोर्डेबल हाउसिंग इन पार्टनरशिप (Affordable housing in partnership)- इस योजना के तहत केंद्र सरकार आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को डेढ़ लाख रुपए तक की आर्थिक मदद करती हैं।
  • इंडिविजुअल हाउस कंस्ट्रक्शन एंड मैनेजमेंट एलईडी बाय बेनिफिसियरीज (Individual house construction and enhancement led by beneficiaries) – इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार गरीब परिवारों को डेढ़ लाख रुपए इंकार की मरम्मत या नया घर बनवाने के लिए मदद करती हैं।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की क्या पात्रता है?

  • किसी भी आवेदक के पास उसका अपना कोई भी पक्का कर नहीं होना चाहिए।
  • परिवार की वार्षिक आय 18 लाख से कम होनी चाहिए।
  • इससे पहले कि आवेदक किसी भी आवास योजना का लाभ न उठा रहे हो।
  • पहला इंस्टॉलमेंट प्राप्त करने की 36 महीने के अंदर घर का निर्माण पूर्ण हो जाना चाहिए।
  • आवेदक किसी भी प्रकार का टैक्स नहीं भरता हो।
  • आवेदक के पास कोई भी सरकारी नौकरी नहीं होनी चाहिए। यदि आवेदक के पास सरकारी नौकरी है तो उसकी आए 10000 या उससे कम होनी होनी चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत किसान क्रेडिट कार्ड के कार्ड धारक भी लाभार्थियों होंगे जिनकी लिमिट 50,000 से ज्यादा होगी।
  • आवेदक के पास कोई भी मोटर गाड़ी, खेती-बाड़ी करने के इक्विपमेंट, या कोई भी सपोर्ट नहीं होनी चाहिए।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में कौन से महत्वपूर्ण दस्तावेज की आवश्यकता होती है?

  • नौकरी करने वालों के लिए
    1. पहचान का प्रमाण
    2. आय का प्रमाण
    3. संपत्ति दस्तावेज
  • व्यापार करने वालों के लिए
    1. व्यापार के पते का प्रमाण
    2. आय का प्रमाण
  • अन्य दस्तावेज
    1. आधार कार्ड बैंक
    2. खाते का विवरण
    3. एक एफिडेविट जिसमें यह लिखा हो कि आवेदक के पास कोई पक्का घर नहीं है।
    4. हाउसिंग सोसायटी के द्वारा प्रदान की गई एनओसी।
    5. एथेनिक ग्रुप सर्टिफिकेट
    6. स्वच्छ भारत मिशन नंबर
    7. मनरेगा के लाभार्थियों का जॉब कार्ड नंबर
    8. सैलेरी सर्टिफिकेट

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट को कैसे देखा जाए?

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट में जो व्यक्ति अपना नाम खोजना चाहता है। वह लाभार्थी नीचे बताई गई प्रक्रिया का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले लाभार्थी को प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर पहुंचना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट के होमपेज पर पहुंचने के बाद लाभार्थी को “Stakeholders” के विकल्प पर क्लिक करना होगा। नीचे दी गई छवि
  • स्टेकहोल्डर के विकल्प पर क्लिक करने के बाद लाभार्थी को “IAY/ PMAY-G” इस पर क्लिक करना होगा।
  • जब लाभार्थी “IAY/ PMAY-G” इस विकल्प पर क्लिक करेंगे तो उनके समक्ष एक नई विंडो खुल जाएगी।
  • यदि लाभार्थी पंजीकरण संख्या के साथ ऑनलाइन पीएमएवाई सूची की जांच करना चाहते हैं तो लाभार्थी को सबसे पहले पंजीकरण संख्या प्रदान करनी होगी उसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • यदि लाभार्थी के पास पंजीकरण संख्या नहीं है तो लाभार्थी को “ Advanced Search ” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद लाभार्थी का विवरण करना होगा और फिर समेत ऑप्शन पर क्लिक करें।
gst suvidha kendra ads banner

Share this post?

custom

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

19 − 6 =

Shares