Contributing to Indian Economy

GST Logo
  • GST Suvidha Kendra®

  • H-183, Sector 63, Noida

  • 09:00 - 21:00

  • प्रतिदिन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी योजना| पीएम मोदी योजना 2021

Contact Us
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी योजना| पीएम मोदी योजना 2021

gst suvidha kendra ads banner

भारत के केंद्र सरकार जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई जा रही हैं।  इसी तरह से पूरे देश के नागरिकों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बहुत सारी पीएम मोदी योजना प्रारंभ करी हुई हैं। इस योजना के तहत देश के सभी नागरिकों को लाभ पहुंचाया जा रहा है।  दोस्तों आज हम इस लेख के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रारंभ की गई सभी योजनाओं को विस्तार से आपको बताएंगे। इन सभी योजनाओं के अंतर्गत जो भी मुख्य दस्तावेज,  योजनाओं के लाभ,  महत्वपूर्ण तिथियां,  योजनाओं की पंजीकरण प्रक्रिया,  और उनकी आधिकारिक वेबसाइट के बारे में बताएं।  योजनाओं के अलावा भी विभिन्न प्रकार के कार्यालय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाए जा रहे हैं जैसे कि महिला कल्याण,  युवा कल्याण,  कृषि कल्याण,  यादी बहुत सारे कल्याणकारी कार्यक्रम केंद्र सरकार द्वारा आयोजित करें जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी योजना सूची क्या है?

 दोस्तों जैसे हमने आपको ऊपर बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा बहुत से प्रकार की कल्याणकारी योजनाएं आरंभ की गई है । PM Modi Yojana  के तहत बहुत सारे मुख्य उद्देश्य जुड़े हुए हैं जैसे विभिन्न वर्गों को सशक्त बनाना,  पूरे देश के नागरिकों को आत्मनिर्भर बनाना,  और सभी देश के नागरिकों को सभी योजनाओं का लाभ पहुंचाना। आज हम इस लेख के द्वारा प्रधानमंत्री मोदी द्वारा प्रारंभ की गई  सभी कल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से सभी पाठकों को जानकारी प्रदान करेंगे।

मोदी सरकारी योजना क्या है?

 जैसे की हम सभी भारतीय नागरिकों को पता है की   माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हर समय विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं का प्रारंभ करते आए हैं।  जैसे कि वर्ष 2014 से 2019 के बीच पहले कार्यकाल के अंतराल के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत करी गई थी। इन योजनाओं के अंतर्गत सभी निम्न वर्ग,  आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग, रूप से पिछड़े हुए परिवारों को उनकी जरूरत के अनुसार सभी आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर बहुत सी कल्याणकारी योजनाओं का प्रारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था।

पीएम मोदी योजनाओं का मुख्य उद्देश्य क्या है?

 दोस्तों जैसे हम हर लेख में बताते हैं कि कोई भी योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि जो भी  आर्थिक रूप से कमजोर और गरीबी रेखा के नीचे आने वाले लोगों को जरूरत की सभी आवश्यकताओं  को पूर्ण करना है और इस कार्य की योजना के माध्यम से पूर्ण किया जाता है ।  इन सभी योजनाओं के माध्यम से पूरे देश को आर्थिक स्थिति के नजरिए से अच्छा बनाना,  अच्छे स्वास्थ्य सेवाएं लागू करना,  रहने के लिए बेहतर घर और सही वातावरण प्रदान करना है।  इन सभी योजनाओं के माध्यम से यह सभी चीजें मुमकिन है इसलिए हम आशा करते हैं कि केंद्र सरकार द्वारा प्रारंभ की गई और आने वाले समय में जो भी योजनाएं प्रारंभ करी जाएंगे उन सभी का लाभ सभी नागरिकों तक पहुंचे। नीचे बताए गए सभी योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा या केंद्र सरकार द्वारा प्रारंभ की गई है।

PM Modi Yojana 2021 List

  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना
  • पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड
  • स्वामित्व योजना
  • आयुष्मान सहकार योजना
  • प्रधानमंत्री कुसुम योजना
  • स्वनिधि योजना
  • अन्‍त्‍योदय अन्‍न योजना
  • नेशनल एजुकेशन पालिसी योजना
  • प्रधानमंत्री रोजगार योजना
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
  • आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना
  • रोजगार प्रोत्साहन योजना
  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना
  • किसान सम्मान निधि योजना
  • प्रधानमंत्री वय वंदना योजना
  • प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना
  • आवास योजना लिस्ट
  • सुरक्षित मातृत्व आश्वासन सुमन योजना
  • प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना
  • प्रधानमंत्री रोजगार योजना
  • उज्ज्वला योजना
  • प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
  • जीवन ज्योति बीमा योजना
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना
  • प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना
  • गर्भावस्था सहायता योजना
  • पीएम कृषि सिंचाई योजना
  • प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना
  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना
  • अटल पेंशन योजना
  • प्रधानमंत्री प्रवासी तीर्थ दर्शन योजना
  • प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना
  • ऑपरेशन ग्रीन योजना
  • मत्स्य सम्पदा योजना

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना

इस योजना का प्रारंभ हमारे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा किया गया था। यह योजना 12 नवंबर 2020 को भारत देश में लागू किया गया था।  जब पूरा देश  कोरोना वायरस  से जूझ रहा था उस समय इस योजना  को प्रारंभ करके रोजगार देने के लिए भारतीय नागरिकों को बढ़ावा मिला था।  इस योजना के तहत  उन सभी कारोबारियों को सब्सिडी प्रदान करी जाएगी जो परिस्थिति में अपने कारोबार के अंदर नई भर्तियां बेरोजगार लोगों के लिए प्रदान करेंगे।  इस योजना के माध्यम से देश में रोजगार बढ़ेंगे और सभी बेरोजगार व्यक्तियों को रोजगार भी मिलेगा। और रोजगार दर भी पिछले कुछ वर्षों के मुकाबले कम हो जाएगा।

ऑपरेशन ग्रीन योजना

यह योजना बहुत पहले से भारत के नागरिकों के लिए प्रारंभ हो चुकी है परंतु भारत सरकार ने इस योजना को कोरोना काल  के चलते समय इसके दायरे बढ़ा दिए गए हैं।  इस योजना के तहत आत्मनिर्भर भारत अभियान के साथ खाद प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा ऑपरेशन ग्रीन योजना को संचालित किया जा रहा है। इस योजना के तहत सरकार सब्जी मंडी के मूल्य महंगाई को देखते हुए तय करती है। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार ने 500 करोड़ का बजट निर्धारित किया है। ऑपरेशन ग्रीन योजना के तहत आने वाली सब्जियां आलू,  प्याज,  टमाटर और बहुत सारे फल को इस योजना के अंदर शामिल किया गया है।

मत्स्य संपदा योजना

 जैसा हम सभी को पता है कि केंद्र सरकार द्वारा यह वादा किया गया है कि सन 2022 तक किसानों की आय को दोगुना कर देगी। इसी बात को केंद्र सरकार ने ध्यान में रखते हुए मत्स्य संपदा योजना का आयोजन किया है। इस योजना के तहत सरकार किसानों को मत्स्य पालन तथा डेयरी खोलने के लिए प्रेरित करती है। मत्स्य पालन के लिए सरकार इस योजना के तहत ₹20000 का बजट निर्धारित किया है। लोगों को समुद्र किनारे और नदी किनारे मत्स्य पालन के लिए केंद्र सरकार ने बहुत ध्यान देकर इस योजना का प्रारंभ किया है।

विवाद से विश्वास योजना

सूचना का प्रारंभ केंद्र सरकार द्वारा इसलिए किया गया है कि विभिन्न क्षेत्रों में कर मामलों का समाधान करने के लिए सरकार ने यह महत्वपूर्ण कदम उठाया है। इस योजना के माध्यम से आयकर विभाग और करदाताओं की सभी अपीलों को वापस  लिया जाएगा। यह योजना उन सभी भारतीय नागरिकों के लिए है जिसके लिए आयकर विभाग द्वारा किसी उच्च मंच पर अपील की गई है। इस योजना के माध्यम से अभी तक 45855 मामलों का समाधान केंद्र सरकार द्वारा निकाल लिया गया है। इस योजना के माध्यम से इतने मामलों को समझाने के बाद सरकार द्वारा  72 780 करोड़ रुपए की धनराशि हासिल हुई  है।

पीएम वाणी योजना

 इस योजना का प्रारंभ 9 दिसंबर 2020 को हुआ था। या योजना  भारत देश के माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा किया गया है। इस योजना के तहत सभी सार्वजनिक स्थानों पर वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।   पीएम पानी योजना के  के माध्यम से वाईफाई फ्री देने की प्रक्रिया रखी गई है। यह करने से सभी के व्यवसाय को भी बढ़ावा मिलेगा और नए नए रोजगार उत्पन्न होंगे। इस योजना का संचालन करने के लिए पूरे देश में विभिन्न स्थानों पर सार्वजनिक डेटा केंद्र खोले जाएंगे। इसके माध्यम से पूरे देश के नागरिकों को फ्री वाई-फाई सुविधा प्रदान की जाएगी।

उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन योजना

उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन योजना का प्रारंभ 11 नवंबर 2020 को किया गया था। इस योजना के माध्यम से घरेलू  विनिर्माण  को बढ़ावा  दिया जाएगा।  इस योजना के अंतर्गत सभी प्रकार की दवाएं,  ऑटो कंपोनेंट्स,  ऑटोमोबाइल  के अलावा और  10  नए प्रमुख क्षेत्रों को शामिल किया गया है। इस योजना के माध्यम से देश के विनिर्माण में बढ़ोतरी होगी और  भारत के आयात पर निर्भरता कम होगी।  इससे भारत देश को सीधा अर्थव्यवस्था में सुधार प्राप्त होगा। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 145 980 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना

इस योजना के माध्यम से केंद्र सरकार  किसानों के लिए खेतों में सिंचाई करने के लिए सोलर ऊर्जा से चलने वाले सोलर पंप प्रदान की जाते हैं। इस योजना के माध्यम से सरकार सन 2022 तक 3.8 गीगावॉट ऊर्जा सोलर के द्वारा प्राप्त करने का लक्ष्य रखा है। इस योजना के लिए केंद्र सरकार ने 340 35 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। सोलर पंप के साथ-साथ किसानों को ग्रिड से जुड़े सौर ऊर्जा और अन्य निजी उपकरण प्रदान किए जाएंगे। इससे किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी।

आयुष्मान सहकारी योजना

 आयुष्मान सरकारी योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार ने पूरे भारत में जगह जगह पर हॉस्पिटल,  हेल्थ केयर फॉर एजुकेशन,  इंफ्रास्ट्रक्चर की स्थापना,  आधुनिकीकरण,  विस्तार,  मरम्मत,  रिनोवेशन का कार्य प्रारंभ कर दिया है। सरकार द्वारा योजना के तहत 10000 करोड़ रुपए का लोन बांटा जाएगा। इस योजना को प्रारंभ करने के पीछे केंद्र सरकार द्वारा सरकारी चिकित्सा क्षेत्र को मजबूत किया गया है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा उचित दूरी के अंतर्गत सरकारी अस्पताल,  मेडिकल कॉलेज खोलने की अनुमति प्रदान कर दी गई है।

स्वामित्व योजना

स्वामित्व योजना का महत्व यह है कि ग्रामीण क्षेत्रों में घरों के मालिकों को संपत्ति कार्ड प्रदान करना  है। इस योजना के तहत घर के सभी मालिकों के पास उनके जमीन जायदाद के दस्तावेज होंगे। इस योजना को माननीय प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी द्वारा 11 अक्टूबर 2020 को प्रारंभ किया गया था। इस योजना के अंतर्गत अभी तक 6.62 लाख गांव को कवर किया गया है। इस योजना के तहत सभी ग्रामीण व शहरी निवासियों की संपत्ति को डिजिटलाइज किया जाएगा।  और जमीन विवादों से हो रहे झगड़े को भी रोका जाएगा। इस योजना के तहत ग्रामीण जमीनों की आबादी का रिकॉर्ड राजस्व विभाग के द्वारा एकत्रित किया जाएगा।

पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड

पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड योजना की स्थापना माननीय नरेंद्र मोदी द्वारा 74 वें स्वतंत्रता दिवस पर करी गई थी। इस योजना के तहत गरीब परिवार वह गरीबी रेखा से नीचे लोगों का मेडिकल रिकॉर्ड एक कार्ड के माध्यम से दर्ज होगा। यह कार्ड आधार कार्ड की तरह कार्य करेगा।  इसके बाद किसी भी मरीज को बहुत से कार्ड या कोई अन्य दस्तावेज संभाल कर रखने की कोई आवश्यकता नहीं होगी।  यह आईडी कार्ड एक डिजिटल कार्ड की तरह कार्य करेगा जिससे मरीज का पूरा मेडिकल रिकॉर्ड इस कार्ड में स्टोर होगा।  पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड कौन केंद्र सरकार ने नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के अंतर्गत प्रारंभ किया गया है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना

गरीब कल्याण  अन्न योजना के तहत देश के 80 करोड़ से अधिक गरीब नागरिकों को केंद्र सरकार द्वारा 5 किलो गेहूं या चावल मुफ्त प्रदान किया जाता है।  इस योजना के अंतर्गत इस बात की घोषणा हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 30 जून 2020 को की गई थी। यह घोषणा  पूरे देश में लॉकडाउन के समय की गई थी। इस योजना के तहत देश के सभी गरीब नागरिकों को मुफ्त में राशन प्रदान किया गया था। इस योजना के तहत सभी देश के नागरिकों को लगभग हर महीने 5 किलो गेहूं 5 किलो चावल बिल्कुल मुफ्त में प्रदान किया गया है। अब तक इस योजना का लाभ पूरे देश में से 80 करोड़ गरीब लोग उठा चुके हैं ।

प्रधानमंत्री आवास योजना ( ग्रामीण तथा शहरी)

 इस योजना के माध्यम से केंद्र सरकार सभी निम्न वर्ग,  पिछड़े वर्गों तथा आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को उनका स्वयं पक्के मकानों के साथ अन्य जरूरतमंद सुविधाएं उपलब्ध कराई गई। इस योजना के अंतर्गत सन 2022 के अंत तक सभी गरीब तथा पिछड़े वर्ग के लोगों को पक्के मकान तथा उनके साथ रोजाना जुड़ी हुई सभी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। यह योजना ग्रामीण  नागरिकों के लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के नाम से जानी जाती है तथा शहर में रहने वाले लोगों के लिए यह प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के नाम से  व्यथित है।

आयुष्मान भारत योजना

 इस योजना के तहत केंद्र सरकार आर्थिक रूप से कमजोर तथा गरीब परिवारों को स्वास्थ्य से संबंधित सेवाएं उपलब्ध कराती है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं के लिए बीमा उपलब्ध कराया है। इस योजना के माध्यम से केंद्र सरकार प्रत्येक लाभार्थी को  ₹500000 तक का बीमा उपलब्ध कराती है। इस बीमा के माध्यम से कोई भी परिवार किसी भी सरकारी अस्पताल या निजी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर अपना मुफ्त में इलाज करा सकता है। इलाज के साथ-साथ सभी दवाइयों का खर्च भी इस बीमा के अंतर्गत आता है। सभी सरकारी अस्पतालों और निजी स्वास्थ्य केंद्रों के अंदर लगभग 1350 सूची बंद बीमारियों का इलाज  आयुष्मान भारत योजना के तहत मुफ्त में किया जाता है।

प्रधानमंत्री अटल पेंशन योजना

प्रधानमंत्री अटल पेंशन योजना के माध्यम से केंद्र सरकार विभिन्न प्रकार की पेंशन  और पेंशन से संबंधित सभी योजनाओं को उपलब्ध कराती है। इस  अटल पेंशन योजना से जुड़ने के बाद कोई भी लाभार्थी अपना भविष्य सुरक्षित कर सकता है। प्रत्येक 60 वर्ष की आयु के बाद कोई भी व्यक्ति मासिक पेंशन प्राप्त कर सकता है। इस योजना के माध्यम से लाभार्थी एक शख्स आत्मनिर्भर बनाता है और अपना भविष्य खुद आत्मनिर्भर के उजाले की ओर लेकर चलता है।

मातृत्व वंदना योजना

 यह योजना गर्भवती महिलाओं के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रारंभ की गई है। इस योजना के माध्यम से कोई भी गर्भवती महिला आर्थिक सहायता के रूप में ₹6000 केंद्र सरकार द्वारा प्रदान करे जाते हैं।  यह योजना सन 2019 में केंद्र सरकार द्वारा प्रारंभ की गई थी।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी योजना

जय योजना स्कूलों तथा कॉलेजों में होने वाली सभी प्रकार की शिक्षा से संबंधित नीतियों को तैयार किया जाता है। यही योजना केंद्र सरकार द्वारा प्रारंभ की गई थी जिससे  एजुकेशन पॉलिसी को और भी बेहतर बनाया जा सके। इस योजना के अंतर्गत सन 2030 के अंत तक सभी स्कूली शिक्षा में 100% सीआर विद्यालय से माध्यमिक विद्यालय तक शिक्षा का पूर्ण स्वर्ण अभिकरण किया जाएगा।  इस योजना के माध्यम से ही केंद्र सरकार ने एजुकेशन पॉलिसी में काफी सारे बदलाव किए हैं और यह सारे बदलाव बहुत सालों के बाद करे गए हैं। इससे पहले 10 + 2  का पैटर्न फॉलो किया जाता था परंतु अब नई शिक्षा  पॉलिसी में परिवर्तन करने के बाद 5+ 3+ 3+ 4 का पैटर्न फॉलो किया जाता है। इस पैटर्न के अनुसार विद्यार्थी 12 साल की स्कूली शिक्षा प्राप्त करेंगे और 3 साल की फ्री स्कूली शिक्षा प्राप्त करेंगे। नेशनल एजुकेशन पॉलिसी योजना के माध्यम से भारत में प्रदान करें जाने वाली शिक्षा को उच्च स्तर पर ले जाने के लिए केंद्र सरकार ने शिक्षा का पैटर्न बदल दिया है।

gst suvidha kendra ads banner

अंत्योदय अन्न योजना

 अंत्योदय अन्न योजना की शुरुआत गरीब परिवारों को लाभ पहुंचाने के लिए की गई है। इस योजना के तहत  अंत्योदय अन्न योजना के राशन कार्ड के जरिए से प्रत्येक परिवार को 35 किलो राशन प्रतिमाह प्रदान किया जाता है। इस योजना के माध्यम से केंद्र सरकार ने एक और अहम कदम उठाया है गरीब परिवारों के साथ-साथ विकलांग लोगों को भी 35 किलो अनाज गेहूं ₹2 प्रति किलो और धान ₹3 प्रति किलो के हिसाब से प्रत्येक परिवार को दिया जाएगा। यह योजना पूरी तरह से गरीब परिवारों तथा पिछड़े वर्ग के लोगों के लिए है।

स्वनिधी योजना

स्वनिधी योजना केंद्र सरकार  द्वारा देश के नागरिकों के लिए प्रारंभ की गई है इस योजना के अंतर्गत वह लोग शामिल होते हैं जो रेडी और पटरी पर अपना ठेला लगाकर खुद का काम शुरू करना चाहते हैं। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक काम वाले को केंद्र सरकार द्वारा ₹10000 तक का लोन उपलब्ध कराया जाता है। इस ऋण को रेहड़ी पटरी वाले लोगों के द्वारा 1 साल के अंतराल के अंदर भरना होता है। इस योजना का लाभ अभी तक 5000000 से अधिक लोगों को हो चुका है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

 जैसे की हम सभी को पता है यह एक फसल बीमा योजना है जो कि किसानों के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रारंभ की गई है। इस फसल बीमा योजना का फायदा किसान अपनी फसल का बीमा करके उठा सकते हैं और  यह बीमा बाढ़ आने पर यह सूखे से होने वाले नुकसान पर या फिर प्रकृति द्वारा पूरी फसल बर्बाद होने पर इसका उपयोग कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक किसान को साल का 2  लाख रुपए तक का बीमा प्रदान किया जाता है। जो भी व्यक्ति इस योजना का उपयोग करना चाहता है  केंद्र सरकार द्वारा बताए गए तरीके से इस योजना का लाभ उठा सकता है।

प्रधानमंत्री धन लक्ष्मी योजना

यह एक अहम योजना है जो सिर्फ केवल महिलाओं के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रारंभ की गई है। यह योजना माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा प्रारंभ की गई है। इस योजना को प्रारंभ करने का मुख्य कारण यह है कि भारत देश की प्रत्येक महिला आत्मनिर्भर बने। इस योजना के माध्यम से देश के प्रत्येक महिला अपना खुद का कारोबार प्रारंभ कर सकें।  इस योजना का लाभ देश की केवल पिछड़े वर्ग तथा गरीब परिवार की महिला ही उठा सकती है।  प्रधानमंत्री धन लक्ष्मी योजना के माध्यम से कोई भी  लाभार्थी महिला ₹500000 तक का लोन प्राप्त कर सकती है। 

फ्री सिलाई मशीन योजना

 योजना के माध्यम से देश की गरीब तथा पिछड़े वर्ग की महिलाओं के लिए केंद्र सरकार ने बहुत सी जगह पर मुफ्त सिलाई मशीन केंद्र  प्रारंभ कर रखे हैं। और केंद्र सरकार द्वारा फ्री सिलाई मशीन भी दी जाती है। जिससे महिला केंद्र में जाकर सिलाई का कार्य सीख कर घर में बैठकर खुद का रोजगार शुरु कर सकें। जैसा कि हमने बताया इस योजना का लाभ ग्रामीण तथा शहरी और श्रमिक महिलाओं को दिया जाएगा। फ्री सिलाई मशीन योजना के माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा अब तक 50 हजार सिलाई मशीन सभी महिलाओं को फ्री में है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए महिलाओं की उम्र 20 से 40 वर्ष की आयु के बीच में होनी चाहिए। इस योजना का मुख्य पहलू यह है कि प्रत्येक महिला को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना है।

बालिका अनुदान योजना

बालिका अनुदान योजना के माध्यम से केंद्र सरकार गरीबी रेखा के नीचे आने वाले सभी बेटियों को विवाह के लिए आर्थिक मदद प्रदान करने के लिए इस योजना का प्रारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से प्रत्येक परिवार की दो बेटियों को केंद्र सरकार द्वारा विवाह के समय ₹50000 तक की आर्थिक सहायता करी जाती है।  इस योजना का लाभ उठाने के लिए परिवार की आर्थिक स्थिति ₹15000 या इससे कम होनी चाहिए। ₹50000 की धनराशि जो सरकार द्वारा गरीब परिवारों को  भी दी जाएगी जब उनकी बेटी की आयु 18 वर्ष से ऊपर हो जाएगी 1 ग्राम बालिका अनुदान योजना के जरिए बेटियों के भविष्य को उज्जवल बनाने का प्रचंड केंद्र सरकार द्वारा घोषित किया गया है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

यह योजना केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लिए प्रारंभ की गई है। इस योजना के माध्यम से सभी किसानों को वित्तीय सहायता पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार सालाना ₹6000 की आर्थिक मदद करती है। यह योजना लगभग 2 हेक्टेयर खेती योग्य भूमि वाले छोटे किसानों के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रारंभ की गई थी। यह धनराशि केंद्र सरकार द्वारा तीन किस्तों में किसानों तक पहुंच जाती है। किसी भी छोटे किसान के पास एक हेक्टेयर से 5 हेक्टेयर खेती करने लायक जमीन है वह इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं। 

इसके अलावा और भी बहुत सी योजनाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अपने पूरे कार्यकाल में प्रारंभ करी है जिससे पूरे देश के  नागरिक उन सभी योजनाओं का लाभ उठा रहे हैं।

gst suvidha kendra ads banner

Share this post?

custom

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

thirteen + 17 =

Shares